आप IAS बनना क्यों चाहते है । अपने व्यक्तित्व का परिक्षण करे?

हमें IAS की तैयारी करने से पहले ये निर्णय लेना होगा कि (Why should I become an IAS officer) हम  IAS बनना क्यों चाहते है। प्रत्येक व्यक्ति में कुछ स्वाभाविक जरूर होता है, आपको अपने उसी स्वभाव को पहचानना है “वो मत बनो जो दुनिया आपको बनाना चाहती है वल्कि वो बनो जो आप बनना चाहते है”

Why should I become an IAS officer

क्यों करे सिविल सेवा परिक्षा की तैयारी

इस दुनिया में दो तरह के लोग होते है-

  1. कुछ लोग वे, जो वक्त के सांचो में ढल गए।
  2. कुछ लोग वे, जो वक्त के ढॉचे बदल गए।

अव ये आपको तय करना कि आप वक्त के सांचे में ढलना चाहते है या वक्त बदलना चाहते है।

अगर आपमें अपने देश व समाज के लिए कुछ बेहतर करने की भावना है और आप IAS बनने का सपना खुली ऑखो से देख रहे है तो आप अपने सपने को पूरा करने के लिए जोश, लगन और जुनून के साथ जुट जाएं।

लेकिन अगर आप आप IAS की अच्छी सैलरी व अन्य सुविधाओं को देखकर IAS बनना चाहते है तो “Don’t waste time”

गांधी जी ने कहा था –

जब भी तुम्हे कोई संदेह हो तो यह परिक्षण करो। अपने मन में उस सवसे गरीव और कमजोर आदमी का चेहरा लाओं, जिसे तुमने पहले कभी देखा हो फिर तुम सोचो कि मैं जो भी कदम उठाने वाला हुं। क्या उससे उस व्यक्ति को कुछ मिलेंगा? क्या बह कदम उसके लिए उपयोगी होगा? अन्य शव्दो में क्या यह कदम लाखों भूखे लोगो को स्वराज की ओर ले जायेगा।

ये बात हमेशा ध्यान रखे कि सिविल सेवा कोई नौकरी नही बल्कि एक सेवा है।

व्यक्तित्व परिक्षण

सिविल सेवा परिक्षा आपके व्यक्तित्व और दृष्तीकोण की परिक्षण करती है। इस परिक्षा में आपके अलग- अलग पहलुओं का प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष तौर पर इम्तिहान लिया जाता है। इस वात में कोई संदेह नही कि कोई भी Aspirant अपने व्यक्तित्व की कमियों को जानकर उसमें प्रभावी सुधार लाकर इस परिक्षा में सफलता हासिल कर सकता है।

अगर प्रकृति ने प्रत्येक व्यक्ति को कुछ गुण दिए है तो स्वाभाविक है कि कुछ कमियां भी जरूर दी होंगी। यह तो तय कि  हमारी कमियों में समय के साथ निजात पाई जा सकती है। लेकिन इसके लिए पहले खुद को पहचानना बहुत जरूरी है, इसी को आत्म निरिक्षण (Self Motivation) कहते है।

सिविल सेवा की तैयारी करने बालो के लिए कुछ प्रेरक लाइने –

जब तक न सफल हो, नीद-चैन को त्यागो तुम,

संघर्ष का मैदान छोडकर, मत भागो तुम…..!

कुछ किए बिना ही जय जयकार नही होती,

कोशिश करने बालो की कभी हार नही होती……!!

 

कोई भी कोशिश नाकाम यूं ही नही जाती….!

मंजिल न भी मिली तो, फासले घट जायेंगे……!!

 

अपना गम ले के कही और न जाया जाए,

घर में बिखरी हुई चीजो को सजाया जाए….!

घर से मसजिद है बहुत दूर , चलो यूं करले,

किसी रोते हुए बच्चे को हंसाया जाए…..!!

Why should I become an IAS officer पोस्ट पढने के बाद अव आपको पता चल गया होगा कि आप IAS बनना क्यों चाहते है तो Comment  करके हमें वतायें……….!!

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *