MPPSC Exam Pattern in Hindi 2018 : प्रकृति एवं प्रक्रिया

MPPSC Exam Pattern in Hindi

About MPPSC Exam in Hindi

MPPSC Exam Pattern in Hindi : मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग इंदौर द्वारा राज्य विशेष प्रशासन से संबंधित अधीनस्थ सेवाओं का आयोजन करता हैसिविल सेवा की तैयारी कर रहे छात्र भी इस परीक्षा में शामिल होते हैं सिविल सेवा एवं राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षा की प्रक्रिया एवं प्रकृति अलग होने के बावजूद भी सिविल सेवा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थी इस परीक्षा में भी सफल होते हैं

MPPSC Exam Pattern in Hindi : परीक्षा की प्रकृति

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग इस परीक्षा में तीन स्तरों से गुजरने पड़ता है

1 – प्रारंभिक परीक्षा

2 – मुख्य परीक्षा

3 – साक्षात्कार

MPPSC Exam : प्रारंभिक परीक्षा

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग का प्रधान नहीं है

आयोग द्वारा 2012 में प्रारंभिक परीक्षा की प्रकृति में बदलाव किया गया, जिसमें प्रारंभिक परीक्षा के द्वितीय प्रश्न पत्र में वैकल्पिक विषय की जगह सामान्य अभिरुचि परीक्षण (जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट) के प्रश्न पत्र को अपनाया गया

प्रथम प्रश्न पत्र सामान्य अध्यन का है, जिसमें प्रश्नों की कुल संख्या 100 है जिसके लिए निर्धारित अंक 200 हैं

द्वितीय पेपर सामान्य अभिरुचि परीक्षण का है जिसमें प्रश्नों की कुल संख्या 100 है, इसके लिए निर्धारित अंक 200 हैं

वर्ष 2017 से मध्य प्रदेश राज्यसेवा परीक्षा एवं मध्यप्रदेश वन सेवा परीक्षा के लिए एक ही प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की जाएगी परंतु मुख्य परीक्षा पहले की तरह अलगअलग होंगी

मुख्य परीक्षा में प्रवेश के लिए प्रारंभिक परीक्षा में न्यूनतम 40% अंक लाना अनिवार्य है

SC, ST, OBC , विकलांग श्रेणी के लिए न्यूनतम 30% अंक लाना अनिवार्य है

मुख्य परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थियों के लिए मुख्य परीक्षा में बैठने का मौका मिलेगा।

2014 में इस परीक्षा में दो वैकल्पिक विषय के पेपर होते थे जिन्हें अब हटा दिया गया है,

इस परीक्षा में 6 अनिवार्य प्रश्न पत्र है ( सामान्य अध्ययन-1, सामान्य अध्ययन-2, सामान्य अध्ययन-3, सामान्य अध्यन-4, सामान्य हिंदी, हिंदी निबंध लेखन )

सामान्य ज्ञान के चारों पेपर एवं सामान्य हिंदी के पेपर अधिकतम 3 घंटे होते हैं, तथा निबंध लेखन के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है।

मुख्य परीक्षा कुल 1400 अंक की होती है।

सामान्य अध्ययन के तीन प्रश्न पत्र ( सामान्य अध्ययन-1, सामान्य अध्ययन-2, सामान्य अध्ययन-3 ) मैं प्रत्येक के लिए अधिकतम 300 अंक निर्धारित हैं।

सामान्य अध्यन 4 एवं सामान्य हिंदी के लिए 210 अंक निर्धारित हैं।

हिंदी निबंध लेखन के लिए 100 अंक निर्धारित हैं।

ये भी पढे –

साक्षात्कार

मुख्य परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थी को 1 महीने उपरांत साक्षात्कार में उपस्थित होना अनिवार्य है।

साक्षात्कार के दौरान अभ्यर्थियों का व्यक्तित्व परीक्षण किया जाता है, वर्ष 2014 में मध्य प्रदेश राज्य लोक सेवा आयोग इस परीक्षा में साक्षात्कार के लिए निर्धारित अंक 175 थे परंतु अब यह 250 का अंक हैं

MPPSC Exam Pattern in Hindi से संबंधित अगर आपका कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके बताएं…………….!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: