सिविल सेवा के लिए Best Notes कैसे बनायें : Smart Trick

How to Make Notes for IAS in Hindi

सिविल सेवा की तैयारी कर रहे IAS Aspirant के मन में 2 सवाल उठते हैं, इनमें पहला है कि सिविल सेवा में उत्तर कैसे लिखें और दूसरा सवाल है कि नोट्स कैसे बनाएं (How to Make Notes for IAS in Hindi ) तो आज हम नोट्स कैसे बनाते हैं (How to Make Notes for IAS in Hindi), इस बात पर चर्चा करते हैं। सिविल सेवा में उत्तर कैसे लिखें इसके बारे में अगली पोस्ट में बताया जाएगा। सिविल सेवा के लिए नोट्स बनाने से पहले यह जान लो कि नोट्स होता क्या है।

नोट्स का अर्थ क्या है || How to Make Notes for IAS in Hindi

मैं आपसे यह नहीं कह रहा हूं, कि आपको Notes का मतलब नहीं पता। Notes का मतलब सिर्फ किसी भी व्यक्ति द्वारा हाथ से लिखा गया या छपा हुआ Notes नहीं कहलाता है। इससे अच्छा तो आप कोई किताब ही पढ़ लें।

जो IAS Aspirant Notes को खरीदते हैं या किसी अन्य के Notes पढते हैं, मैं गारंटी के साथ कह सकता हुं कि उन्हें यही नहीं पता कि Notes होते क्या है। Notes को आसान शब्दों में कहें तो जो आपका है अपना है और आपके द्वारा स्वयं बनाया गया है, उसे Notes कहते हैं।

IAS Aspirant को Notes को जरूरत के हिसाब से बनाने चाहिए एंव हमेशा अपनी क्षमता अनुसार ही Notes बनाए तो वही Notes उसके लिए उपयोगी साबित होंगे।

नोट्स कैसे बनाएं || How to Make Notes for IAS in Hindi

  • Notes की परिभाषा कई स्थानों पर बिखरे कुछ तथ्यों को एक स्थान पर संकलन करना है, एक IAS Aspirant को यह समझना चाहिए कि किस किताब से क्या-क्या लेना है और कितना- कितना लेना है, किस तरह लेना है, फिर इन किताबों के महत्वपूर्ण तथ्यों को एक जगह पर एकत्रित कर लेना ही Notes कहलाता है।

 

  • Notes बनाना मुश्किल जरूर है, लेकिन नामुमकिन नहीं। इसलिए किसी अन्य के Notes को पढ़ते हैं, अपने नोट्स बनाना जरूरी नहीं समझते, आखिर में उन्हें निराशा ही हाथ लगती है|

 

  • Notes बनाने की सही प्रक्रिया है, कि किसी टॉपिक को स्त्रोतो या किताबों में देखो, फिर उस टॉपिक को अपनी भाषा में सभी स्त्रोत या किताबों का निचोड़ ही सही मायने में Notes बनाना कहलाता है।

 

  • अपने द्वारा Notes बनाने से आपके सोचने समझने की क्षमता में वृद्धि होगी, क्योंकि किसी भी टॉपिक पर जब आप अपनी भाषा में लिखते हैं तो उसमें आपकी सोच और समझने की क्षमता में वृद्धि होती है।

 

  • आप परीक्षा में देखते हैं कि जिस टॉपिक पर आपने नोट्स बनाए हैं, वहीं टॉपिक परीक्षा में आ गया है। तो वह टॉपिक आपके दिमाग में उभरने लगेगा और उस टॉपिक को आसानी से कर सकते हैं। क्योंकि जिस समय हम किसी टॉपिक पर नोट्स बना रहे होते हैं तो हम अपनी भाषा में उसे नोट करते हैं जिससे वह लंबे समय तक याद रहता है।

 

  • जब Aspirant Notes बनाते समय लिखते हैं, तो इससे सिर्फ आप के नोट्स ही तैयार नहीं हो रहे बल्कि आपकी लेखन शैली का भी अभ्यास हो रहा है।

 

  • आप Notes को इस तरह से तैयार करें कि परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों का उत्तर आसानी से दे सकें।

अन्य पोस्ट-

IAS Kaise Bane | आई.ए.एस अधिकारी कैसे बनें ?

Civil Service (सिविल सेवा) : एक परिचय

5 Rules जिन्हे Follow करके आप भी बन सकते है Topper

अगर आपको Notes बनाने में अब भी कोई Problem आ रही है तो हमें Comment करे और “How to Make Notes for IAS in Hindi” पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Share करे ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!