How to prepare For IAS Mains – Hindi Medium

How to prepare For IAS in Hindi
आज हम आपको इस “How to Prepare for IAS in Hindi” पोस्ट के माध्यम से यह बताने जा रहे हैं कि IAS Preparation Hindi में कैसे करें। 
Mains Paper 1 : ( भारतीय विरासत और संस्कृति,विश्व का इतिहास एंव भूगोल तथा समाज )

How to Prepare for IAS in Hindi Mains Paper : इतिहास

इतिहास में अगर हम देखे तो UPSC ने आधुनिक भारत के साथसाथ भारतीय विरासत एंव संस्कृति तथा विश्व के इतिहास को शामिल किया गया है। सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र मे कुल 12 टॉपिक है जिनमें से शुरुआती पॉच टॉपिक इतिहास से संबधित है,इतिहास के अंनर्गत तीन खण्ड आते है 1- भारतीय विरासत और संस्कृति, 2- आधुनिक भारत का इतिहस, 3 –विश्व इतिहास । इन तीनो खण्डो का विश्लेषण विस्तार से नीचे दिया गया है।

1 – भारतीय विरासत और संस्कृति
सिविल सेवा की तैयारी करने बाले General Studies Paper 1 की तैयारी के लिए भारतीय संस्कृति एंव विरासत को पूरी तरह से पढते रहते है,लेकिन इसमें आपको बताता हुं कि इसमें सिर्फ़ तीन पहलुओ पर फोकस करना चाहिए कला के रूप,साहित्य और वास्तुकला
इस टॉपिक की तैयारी के लिए परिक्षार्थियो को समयनुसार कलाओ का विकाश, साहित्य एंव वास्तुकला की जानकारी से हमेशा Update रहना चाहिए। उदाहरण के तौर पर भारतीय इतिहास की शुरुआत प्रागैतिहासिक काल से ही हो जाती है। इस काल मे कला का रूप सिर्फ चित्र कला में ही दिखाई देता है अत: इस पक्ष का अध्ययन जरूरी है। इन सव के अलावा कुछ और भी Topic है, जिनके आपको Notes बनाकर तैयारी करनी है बह Topic नीचे दिये गये है।
  • पाषाणकाल
  • नवपाषणकाल
  • सिंधु घाटी की सभ्यता
  • वैदिक काल
  • मध्य काल ( कला के रूप,साहित्य एंव वास्तुकला )
  • आधुनिक काल ( कला के रूप,साहित्य एंव वास्तुकला )

 

2 – आधुनिक भारतीय इतिहास
इस खण्ड में 1750 . पू. से वर्तमान समय तक के भारतीय इतिहास, महत्वपूर्ण घटनाओ तथा व्यक्तित्व के वारे जानकारी होनी चाहिए। विधार्थियो को इस Topic में वहुत ही राहत है क्योकि इस Topic की अध्ययन सामग्री काभी मौजूद है जिस को सही सामग्री का उपयोग प्रश्नो को आसानी से हल किया जा सकता है। विपिन चन्द्र द्वारा लिखित आधुनिक इतिहास सबसे Best है।
पिछले बर्षो के प्रश्नपत्रो का विश्लेषण करने पर ये वात सामने आयी है कि UPSC हमेशा किसी महत्वपूर्ण घटना या फिर किसी प्रभावशाली व्यक्तित्व तथा किसी महत्वपूर्ण विषय से संबधित प्रश्न पूछता है। देश में स्वतंत्रता के पश्चात जिस प्रकार से आर्थिक, सामाजिक एंव राजनीतिक एकीकरण के लिए किये गए कार्य ,उदाहरण के तौर पर
  • राज्यो का पुर्नगठन
  • चुनावो का आयोजन
  • पंचवर्षीय योजनाएं
  • चीन एंव पाकिस्तान से भारत के युध्द
  • हरित क्रांन्ति
  • गरीबी हटाये जाने के लिए किये जाने बाले प्रयास
  • बैंको का राष्ट्रीयकरण
  • 1991 का आर्थिक संकट
  • 1991 के बाद किये गए आर्थिक सुधार

 

3 – विश्व इतिहास
इस खण्ड में सिर्फ़ 18वीं सदी एंव विश्व इतिहास की अपेक्षा की गई है। इस खण्ड  में औधोगिक क्रांति से लेकर वर्तमान तक की प्रमुख वैश्विक घटनाओ की जानकारी इस खण्ड के लिए अनिवार्य है। इस खण्ड की तैयारी के लिए 9th से 12th Class की Books पढना बहुत ही महत्वपूर्ण है, समसामयिकी से हमेशा Update रहे क्योकि UPSC मुद्दो  को जोडकर ही प्रश्न ही पूछता है।

IAS Preparation in Hindi  : भूगोल, पर्यावरण मुद्दे एंव आपदा प्रबधन

भूगोल का विस्तृत अध्ययन करना पढेगा आपको क्योकि अंतराष्ट्रीय संबधो से जुडे मुद्दे क्योकि देशो की भोगोलिक अवस्थिकी, संसाधन व अन्य मुददो की जानकारी भूगोल के बिना सभ्भब नही है। भूगोल का अध्ययन अवधारणात्मक रूप से गहन अध्ययन आवश्यक है क्योकि प्रश्न अवधारणात्मक से ही पूछे जाते है। उदाहरण के लिए
  • चक्रवात ( वायुदाव पेटी, चक्रवात की प्रकृति , प्रकार, विशेषताओ व मौसमी दशाये )
  • विश्व के भौतिक भूगोल
  • भारत का अपबाह तंत्र
  • उदयोगो की अवस्थिती
  • उर्जा संसाधन
  • महासागरीय संसाधन
  • कृषि
  • अफ़्रीकी महादीप के संसाधन
  • प्लेट विवर्तनिकी  व भूकम्प
  • ज्बालामुखी
  • द्वीप निर्माण
  • जलबायु परिवर्तन के प्रभाव
  • पर्यावरणीय मुद्दे
  • आपदा प्रंबधन
  • अवैध खनन
  • भारत के पश्चीमी क्षेत्र में भूस्खलन व आपदा प्रंबधन

How to prepare For IAS Mains Paper -2 in Hindi

 

सामान्य अध्ययन- 2 (  शासन व्यवस्था,संविधान, शासन प्रणाली,सामाजिक न्याय तथा अंतराष्ट्रीय संबंध )

राज्यव्यवस्था

इस भाग में शासन व्यवस्था, संविधान,शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय आदि विषयों के वारे में चर्चा की जायेगी।

पिछ्ले कुछ बर्षो के प्रश्न पत्रो की प्रकृति देखकर ये अनुमान लगा सकते है कि मुख्य परिक्षा के राज्य व्यवस्था खण्ड को रटने की वजाय विश्लेषणात्मक और मुल्यांकन पर ध्यान देना चाहिए।

कैंद्र राज्य संबधो के विशेष संदर्भ में हालिया गतिविधियो पर नजर रखे।

समसामयिक घटनाओ से हमेशा Update लेते रहे।

राज्य व्यवस्था की तैयारी के लिए एक मात्र पुस्तक “ भारत की राज्य व्यवस्था एम. लक्ष्मीकांत द्वारा लिखित” ही पढे। ज्यादा कितावो का ढेर लगाने की कोई आबश्यकता नही है।

 

किताव द्वारा तैयारी करने बाले टॉपिक

 

  • भारतीय संविधान
  • संसद
  • विधायिका
  • कार्यपालिका
  • न्यायपालिका

 

नोटस बनाकर तैयारी करने बाले टॉपिक

 

  • योजनायें ( राज्य सरकार द्वारा संचालित )
  • संसदीय सत्र के दौरान हंगामा एंव इसके प्रभाव
  • राष्ट्रीय न्यायिक
  • नियुक्ति आयोग
  • भूमि अधिग्रहण

 

 

अंतराष्ट्रीय संबध

अंतराष्ट्रीय संबध की तैयारी के लिए किसी Book की आवश्यकता नही है, अगर आप कोई भी Book खरीद भी लेते है तो उसका कोई फायदा नही है क्योकि आप अंतराष्ट्रीय संबध को किताबी अध्ययन द्वारा हल नही कर सकते है। वो इसलिए कि संबधित Book सिर्फ़ आधारभूत जानकारी उपलब्ध कराती है, जबकि प्रश्नो की प्रकृति विश्लेषणात्मक होती है। अंतराष्ट्रीय संबध की तैयारी के लिए सबसे ज्यादा फोकस समसामयिक घटनाओ एंव सूचनाओ पर ध्यान दे तो आप इस खण्ड में अच्छे अंक ला सकते है। अंतराष्ट्रीय सूचनाओ को पढते समय सिर्फ ये जानलेना जरूरी नही है कि संस्था क्या है, बल्कि ये जानना वेहद जरूरी है कि संस्था की संरचना, उसके कार्य,अदिदेश, बैश्विक एंव भारतीय अर्थव्यवस्था पर पडने बाले प्रभाबो की जानकारी वेहद जरूरी है।

पिछले कुछ बर्षो के प्रश्न- पत्रो का विश्लेषण करने पर ये वात सामने आयी है कुछ टॉपिक सबसे ज्यादा परिक्षा में पूछे गए है जो नीचे दिये गए है।

 

  • दधिण चीन सागर
  • अंतराष्ट्रीय वित्तीय संस्थायें
  • न्यु डेवलमेंट बैंक
  • एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर बैंक
  • विश्व व्यापार संगठन
  • चीन – पाकिस्तान आर्थिक गलियारा
  • String Of Pulls
  • अफगानिस्तान में अंतराष्ट्रीय सुरक्षा सहायक बल
  • भारत – जापान संबध
  • शाहबाग स्कवांयर
  • India – Sri Lanka संबध
  • गुजराल डॉक्ट्रीन
  • मालदीव
  • I.M.F

 

 

समाज एंव सामाजिक  न्याय

सामान्य अध्ययन के प्रश्न – पत्र 1 व प्रश्न- पत्र 2 में समाज एंव सामाजिक न्याज से जुडे मुद्दे को शामिल किया गया है, विगत बर्षो में इससे 100-200 अंको के 10-12 प्रश्न पूछे गए है। इस खण्ड पर ज्यादा फोकस करने की आवश्यकता है।

शिक्षा के प्रसार और आर्थिक उन्नति ने धीरे-धीरे समाज में व्यापक बदलाब लाने शुरु कर दिये है इसलिए आजकल सामाजिक मसले बडे जोर शोर से उठाये जाते है जैसे-

 

  • महिलाओं की समस्या
  • जाति व्यवस्था
  • पितृसत्तात्मक समाज
  • धार्मिक कर्मकाण्ड या अंधविश्वास
  • समाजिक रीति रीवाज
  • नियम  कानुन की  वैधता
  • भारत के समाजिक न्याय एंव अधि कारिता मंत्रालय की  देख- रेख में संचालित कार्यक्रमो, योजनाओ की विशेषताओ और महत्व आदि पर ध्यान दे।

 

स्वास्थ शिक्षा, मानव संसाधन से संबधित विषयो का अध्ययन करने के दौरान ध्यान रखे कि देश  के ग्रामीण क्षेत्रो मे इनका कितना अभाव है एंव इनके क्या सुधार की आवश्यकता है।

 

योजनाओ के नोटस बनाकर तैयारी करने बाले टॉपिक

 

नोट- ये नीचे दिये गए सभी टॉपिक योजनाओ पर आधारित है

 

  • योजनाएं ( पिछले छ: महिने की सभी योजनाएं )
  • अनुसुचित जाति/ जन जाति
  • वृद्धजनो
  • नि:शक्तिजनो
  • बालसृम के शिकार बच्चे

How to prepare For IAS Mains Paper 3

विज्ञान एंव प्रौधोगिकी( Science & Technology )

Civil Service Mains GS 3 में आज- कल विज्ञान एंव प्रौधोगिकी-विकाश एंव अनुप्रयोग और रोजमर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव, विज्ञान एंव प्रौधोगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां, देशज रूप  से प्रौधोगिकी का विकाश और  नई प्रोधोगिकी का विकाश एंव  सूचनाएं, Space, Computer, Robotics, Nanotechnology, Bio- Technology, और बौधिक संपदा अधिकारों से संबधित विषयो  के संबध मे जागरूकता शामिल है।

पिछ्ले कुछ बर्षो में Civil Service Examमें Science & Technology से पूछे जाने प्रश्न Current प्रकृति के रहे है उनमें विशेष ज्ञान की आवश्यकता  नही होती है। वे घटनाओं की सामान्य समझ और मुद्दों के तथ्य व सूचनाओं की मांग करते है। जैसे कि यदि Aspirant से पूछा जाए कि Plasma  तकनीक से आप क्या समझते है? अपशिष्ट निपटान में इसके अनुप्रयोगो की चर्चा करे। दूसरे शब्दो मे, इस तकनीक  की ऐसी विशिष्टताओं का उल्लेख करें जिनसे स्पष्ट होता हो कि यह विभिन्न प्रकार के अपशिष्टों के निस्तारण में सहायक हो सकती है, तो ऐसे प्रश्नो का उत्तर देने के  लिए तथ्य व सूचना का होना आवश्यक है। अक्सर सिविल सेवा परिक्षा नई- नई तकनीक  आदि के वारे महत्पूर्ण मुद्दे तैयार किये जाते है।

इनकी अलाबा विभिन्न प्रकार के रोगो और उनसे जुडे अनुसंधानो के वारे मे जानकारी एकत्र करनी Start कर दो। जैसे कि Human Papillomavirus, Rota Virus, Rett Syndrome, Schizophrenia, etc से संबधित प्रश्न पूछे जाते है।

Candidates को सिविल सेवा के Syllabus अनुसार Current के Notes बनाकर तैयारी करना बहुत अच्छा साबित होगा।

 

अर्थव्यस्था( Economics )

अर्थव्यवस्था प्रारांभिक एंव मुख्य परिक्षा दोनो के लिए बहुत ही अहम है विगत बर्षो की मुख्य परिक्षाओ में पूछे जाने वाले प्रश्न लगभग 110 अंक के पूछे गए है। अर्थव्यवस्था में पूछे गए इस प्रश्नो की प्रकृति देखकर स्पष्ट हो जाता है कि अधिकांस प्रश्न Current Affairs से ही आते है जैसे कि देश व विदेश के आर्थिक जगत मे घटित हो रही घटनाओं पर ध्यानर रखकर ही इन विषयों की तैयारी करनी चाहिए। एक अन्य सबसे महत्बपूर्ण बात है कि यदि सरकार द्वारा आर्थिक या वित्तीय जगत में किसी प्रकार के नीतिगत फैसले लिये जा रहे है, किसी नियम-कानुन में परिवर्तन हो रहा है तो उसे अवश्य ही कहीं न कही प्रश्न से जोडकर पूछा जा सकता है। यह प्रश्न इस विंदु को भी प्रकाश में लाता है।

आधारभूत संरचना कृषि और ख़ाद्य उदयोग से संबधित प्रश्नो को भी देख सकते है, लेकिन ध्यान रहे कृषि से संबधित प्रश्न जैसे कि फसल प्रारूपों, सिचाई प्रणाली इत्यादि पर प्रश्न न पूछ कर कृषि में समस्या,ग्रामिण साख इत्यादि से संबधित प्रश्न पूछे जाते है।

अगर इस पूरे खण्ड का निचोड निकाला जाए तो ये चंद बिंदु मे ही सिमट जाएगा।

 

  1. विषय की बुनियादी समझ आवश्यक है।
  2. प्रश्न महज सैदधांतिक न होकर व्यावहारिक तथा बहुआयामी प्रकृति के पूछे जाते है।
  3. अधिकांश प्रश्न Current Affairs से पूछे जाते है।
  4. विभिन्न आयामों को एक- दूसरे से जोडकर विश्लेषण करने की क्षमता को महत्ब दिया जाना चाहिए।

 आंतरिक सुरक्षा ( Internal Security )

आंतरिक सुरक्षा हमारे देश की सबसे बडी चुनोती है इसी वजह से सिविल सेवा के Syllabus  में इसे शामिल किया गया है जो लोग सिविल सेवा की तैयारी कर रहे है उन्हे सलाह दी जाती है कि आंतरिक सुरक्षा की समझ रखे। इसकी तैयारी के लिए पिछले कुछ बर्षो के सामान्य अध्ययन – 3 पेपर की प्रकृति और प्रारूप को ध्यान मे रख कर करनी चाहिए, इसमे अधिकांश प्रश्न  संबधित विषयो की Current Affairs के मुद्दे से पूछे जाते है।

आंतरिक सूरक्षा की जिम्मेदारी गृह मंत्रालय की है आंतरिक सूरक्षा से जुडी Agency, Yojna व प्रणाली आदि से संबधित महत्बपूर्ण जानकारी गृह मंत्रालय की Website पर उपलब्ध है, जिन्हे Candidates को देखते रहना चाहिए।

Candidates को बेहतर तैयारी के लिए निम्न विंदुओ को कभी नजर अंदाज न करे।

 

  • विकास और उग्रवाद के प्रसार के मध्य संबध
  • आंतरिक सुरक्षा में Non-State Actors की भूमिका
  • साइबर सुरक्षा- राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा नीति (2013)
  • Money Laundering
  • सीमावर्ती क्षेत्रो ( विशेषकर पूर्वोतर ) में सुरक्षा चुनौतियां तथा प्रबंधन
  • आतंकवाद तथा संगठित अपराध के मध्य संबंध
  • भारत का परमाणु कार्यक्रम

 

Candidates को चाहिए कि बह Current Affairs से संबधित विषयो पर Notes बनाकर अध्ययन करे।

How to prepare For IAS in Hindi पोस्ट में सामान्य अध्ययन – और Essay Paper की तैयारी कैसे करे इसकी विस्तार से जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक को खोले।

 

 

नोट अगर आप How to prepare For IAS in Hindi से संबधित कोई भी जानकारी चाहते है तो भी Comments करके हम से पूछ सकते है। अगर आप को लगे कि ये Post वाकई सिविल सेवा की तैयारी करने के लिए सही है तो इसे Social Media पर Share जरूर करे। वो इसलिए कि दूसरो लोग जो सिविल सेवा की तैयारी कर रहे है उनका भी कुछ लाभ हो।

 

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *