How to Prepare CSAT for UPSC – Hindi Medium

How to Prepare CSAT for UPSC

आज हम जानते है कि How to Prepare CSAT for UPSC. सिविल सेवा की तैयारी करने बाले सबसे ज्यादा CSAT Exam से डरते है लेकिन मेरा मानना है कि अगर सही मार्ग दर्शन से तैयारी करते है तो ये बहुत ही सरल सावित होगा। जिनकी पृष्ट भूमि गणित एंव विज्ञान विषयो की  है, उनके लिए दो घन्टे मे गणित और रीजनिंग को मिलाकर 27 प्रश्न हल करना कोई मुस्किल नही है, लेकिन मानविकी पृष्ट भूमि के विधार्थियो के लिए ये वाकई चिंता का विषय है।
नीचे दी गई टेविल मे आप देख सकते है किस बर्ष CSAT Exam मे किस टोपिक से कितने प्रश्न आये है।
How to Prepare CSAT for UPSC

How to Prepare CSAT for UPSC : CSAT Exam की तैयारी कैसे करें

सी.सैट प्रश्न- पत्र मे 80 प्र्श्न होते है, जिसमे प्रत्येक प्र्श्न 2.5 अंक का होता है। विधार्थियो को सी.सैट मे क्बालिफाई के लिए निर्धारित 33% अंक लाने के लिए आपको 200 अंको मे से 66 अंक लाना अनिवार्य है, लेकिन एक वात का ध्यान रखना इसमें निगेटिव मार्किग का भी प्रावधान है।
विगत 5 वर्षो के प्र्श्न- पत्र को हल करके इस समस्या का हल हो सकता है। वर्ष 2014 में अंग्रेजी बोधगया को सी.सैट के पाठ्यक्र्म से हटा दिया गया। आप सोच रहे होंगे कि मैंने नीचे सिर्फ तीन ही Topic पर ही क्यो चर्चा की है बो इसलिए क्योकि मैंने पिछ्ले बर्षो के प्रश्न- पत्रो का विश्लेषण किया तो ये वात सामने आयी कि इन तीन ही Topic पर प्रतिबर्ष सर्वाधिक प्रश्न पूछे गए है। इसलिए मे आपको सलाह देना चाहता हु कि इन Topic पर ज्यादा ध्यान दे।

वोधगम्यता से संबधित प्रश्न

  • सी.सैट मे वोधगम्यता खण्ड से प्रतिबर्ष सर्वाधिक प्र्श्न आते है अगर इसका औसत देखे तो प्रतिवर्ष 28 प्रश्न इस खण्ड से आते है।
  • 2014 से पहले अंग्रेजी वोधगम्यता से 8-9 प्र्श्न आते थे, परंतु अंग्रेजी वोधगम्यता को यू.पी.एस.सी ने हटा दिया।
  • बर्ष 2015 और 2016 के प्रश्न-पत्र देखे तो 100-150 शब्दो वाले अनुच्छेदो से केवल 1-2 प्र्श्न पूछे गये जवकि 200-300 शव्दो वाले अनुच्छेदो से 3-4 प्र्श्न आये है।
  • पूरे प्रश्न- पत्र मे 27 प्रश्ननो को हल करने के लिए कुल 17 अनुच्छेद दिये गये थे, जिन विधार्थियो की गणित एंव रीजनिंग पर अच्छी पकड आपको कम मेहनत मे ही सफल कर सकती है।

आधारभूत संख्यन/गणित से संबधित प्रश्न

  • गणित खण्ड से सामान्यत: 10वी कक्षा के स्तर तक के प्रश्न पूछे जाते है, ज्यादातर प्रश्न अंक गणित से पूछे जाते है।, साथ ही आंकडे के निर्वचन (चार्ट, ग्राफ एंव तालिका आदि) भी महत्वपूर्ण है।
  • गणित के कुछ जरूरी टॉपिक जिन से ज्यादा तर प्रश्न पूछे गये है।
  • प्रतिशतता (लाभ और हानि, साधारण व्याज एंव चक्रवृध्दि व्याज, अनुपात आदि),  समय और दूरी, समय और कार्यप्रायिकता आदि महत्वपूर्ण है।
  • इसकी तैयारी के लिए संख्यात्मक अभियोग्यता – R.S Agarwal और Perfect Verbal  एंव Non Perfect Verbal Reasoning  की किताब Best है।

निर्णयन तथा अंतवैयक्तिक कौशल से संबधित प्रश्न

  • इस खण्ड से कुल मिलाकर 6-8 प्रश्न जाने की संम्भावना रहती है।
  • इस खण्ड से संबधित प्रश्नो में भेदात्मक अंकन ( Differential Marking) की व्याख्या लागु है, इसका अर्थ है  कि इनमें एक ही उत्तर को ठीक मानने की प्रवृति नही होती  बल्कि प्रश्न मे दिए गए सभी विकल्पो के लिए अंको का वितरण होता है यानि किसी प्रश्न के लिए निर्धारित 2.5 अंको के विभिन्न विकल्पो के लिए वरीयता क्र्म मे आवंटित कर दिया जाता है।
  • ऋणात्मक अंक न होते तथा भेदात्मक अंकन होने के कारण परिक्षा मे इस खण्ड के प्रश्नो को बिलकुल नही छोडना चाहिए, खुद को आई.ए.एस अधिकारी समझते हुये सामान्य बुध्दि ( Common Sense) से इनका उत्तर दीजिए तव जाकर इनके ठीक हो जाने की संभावना वनती है।

How to Prepare CSAT for UPSC से संबधित किसी भी सलाह के लिए हमें Comment करे।

अन्य पोस्ट –

How to Prepare for IAS Prelims – Hindi Mediem

How to prepare For IAS Mains in Hindi

How to Prepare for Essay in IAS – Hindi Medium

9 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *