Best Golden Thoughts of Life in Hindi : प्रेरणादायक स्टेटस

ये Golden Thoughts of Life in Hindi  आपको प्रेरित करने बाले है, ये विचार थोडे कडवे जरूर है मगर ये आपको प्रेरित करने में मह्त्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे। सिर्फ़ विचारो को पढने से जिंंदगी नही बदलती दोस्तो इसके लिए विचारो को अपने जीवन में लागु भी करना होता। ये वात ध्यान रखना कि आप स्वंय बदलना नही चाहते तो मैं किया दुनिया का कोई Motivation Trainer आपको बदल नही सकता।

Golden Thoughts of Life in Hindi

Best Golden Thoughts of Life in Hindi

आज हर इंसान दुनिया बदलने की सोच रहा है……!
लेकिन वो कभी ख़ुद को बदलने की नहीं सोचता……!!

बड़े आदमी बहुत लोग बन जाते हैं लेकिन बड़े होने के साथ……!
अच्छे बहुत कम लोग ही होते हैं……!!

मत रख इतनी नफ़रत अपने दिल में इन्सान……!
जिस दिल में नफ़रत होती है उसमे रब नहीं बसता……!!

जिस दुःख को आपने खुद ना सहा हो……!
उस पर दूसरों को उपदेश ना दे……!!

मैं दुनिया से लड़ सकता हूँ लेकिन अपनों से नहीं……!
क्यूंकि अपनों के साथ मुझे जितना नहीं बल्कि जीना है……!!

किसीको प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है……!
और किसीका प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान है……!!

जिंदगी उसी के साथ खेलती हैं……!
जो अच्छा खिलाड़ी हैं……!!

कुछ चीज़ें पैसों से नहीं खरीदी जा सकती……!
और मुझे उन्ही चीज़ों का शौक हैं……!!

सोचकर यही, मंदिर मस्जिद भी दंग है……!
हमें ख़बर भी नहीं, और हमारी जंग है……!!

मंजिलें भी जिद्दी हैं, रास्ते भी जिद्दी हैं……!
देखतें हैं कल क्या होता है, क्यूंकि हम भी जिद्दी है……!!

समाज में बदलाव क्यों नहीं आता……!
क्योंकि गरीब में हिम्मत नहीं, मध्यम को फुरसत नहीं और अमीर को जरूरत नहीं……!!

बहुत ही छोटी लेकिन बहुत ही अनमोल बात है……!
आपका स्वभाव ही आपका आने वाला भविष्य है……!!

उड़ा देती है नींदे भी कुछ जिम्मेदारीयां घर की……!
देर रात तक जागने वाला हर शख्स आशिक़ नहीं होता……!!

कुछ कहने से पहले जरूर सोचिए……!
आपके शब्द किसी की खुशियों को खत्म कर सकते हैं……!!

अपनापन तो हर कोई दिखाता है……!
पर अपना कौन है ये तो वक़्त ही बताता है……!!

संघर्ष पिता से सीखो, संस्कार माता से……!
बाकि सब कुछ दुनिया सिखा देगी……!!

गलत को गलत और सही को सही कहने की हिम्मत रखता हूँ……!
तभी आज कल में रिश्ते कम रखता हूँ……!!

रेगिस्तान भी हरे हो जाते हैं……!
जब अपने साथ अपने खड़े हो जाते हैं……!!

होने दो तमाशा मेरी भी जिंदगी का……!
मैंने भी मेले में बहुत तालियाँ बजाई हैं……!!

विश्वास वह शक्ति हैं जिससे उजड़ी हुई दुनिया में……!
प्रकाश लाया जा सकता हैं……!!

उन्हें हराने की कोशिश कभी मत करना……!
जिन्होंने तुम्हें जितना सिखाया है……!!

आये हो निभाने को जब किरदार ज़मी पर……!
तो कुछ ऐसा कर चलो की ज़माना मिसाल दे……!!

एक रास्ता ये भी है, मंज़िलों को पाने का……!
सिख लो तुम भी हुनर हां में हां मिलाने का……!!

निकले हम दुनिया की भीड़ में तो पता चला……!
की हर वो शख्स अकेला है जो दूसरों पर भरोसा करता है……!!

कुछ सवाल, सवाल ही रहे तो अच्छा है……!
जवाब ढूंढने पे उनके, अक्सर रिश्ते खो जाते है……!!

ज़माना खिलाफ़ हो क्या फर्क पड़ता है……!
हम तोह ज़िंदगी आज भी अपने अंदाज़ मैं जीते हैं……!!

बड़ा कौन होना चाहता है साहब……!
घर की जिम्मेदारियां बड़ा बना देती है……!!

दुनिया में अगर सबसे अच्छा सोचना है……!
तो सर्वप्रथम किसी का बुरा सोचना बंद करना होगा……!!

आज की दुनिया में झूठे लोगों को स्वीकारा जाता है……!
और सच्चे लोगों का शिकार किया जाता है……!!

घुटन क्या चीज़ है, ये पूछिए उस बच्चे से जो काम करता है……!
रोटी के लिए खिलौनों की दुकान पर……!!

कुछ नहीं मिलता दुनिया में मेहनत के बगैर……!
मेरा अपना साया मुझे धुप में आने के बाद मिला……!!

कही से शरु होती है बात कही और जा कर ख़त्म होती है……!
जिंदगी भी अजीब है, जनाब हर पल कुछ नया सिखाती है……!!

सुख क्या हैं……?
सुंदर जवाब, दो दुःख के बिच में मिला “इंटरवल”……!!

मुझको गिरते हुए पत्तों ने यह समझाया है की……!
बोझ बन जाओगे तो अपने भी गिरा देते हैं……!!

ये जरुरी नहीं, रौशनी के लिए घर में चिराग ही हो……!
बेटियां भी घर को रोशन करती हैं……!!

विरासत के दौलतमंद क्या जाने मेहनत का नशा……!
जिंदगी वो नहीं, जो अपने पुरखो पे जी जाएँ……!!

एक वक़्त ऐसा आता है……!
सब सही होने के बावजूद भी इंसान मुस्कुराना भूल जाता है……!!

जो आपकी ख़ुशी के लिए, अपनी हार मान लेता हो……!
उससे आप कभी भी नहीं जीत सकते……!!

सूखे पत्तो की तरहा थी ज़िन्दगी भी……!
किसी ने समेटा भी तोह जला ने के लिये……!!

अच्छे दोस्त उन सितारों की तरह होते है……!
जो भले ही रौशनी में दिखाई न देते हों पर हमेशा साथ रहते है……!!

सच्चा इंसान सादे कपड़ो में भी चमकता है……!
और झूठा इंसान सूट-बूट में भी पहचाना जाता है……!!

तू बेशक हिरा है, लेकिन सामने वाला तेरी क़ीमत……!
अपनी औकात, अपनी जानकारी और अपनी हैसियत से लगाएगा……!!

जरुरी नहीं की हर सबक किताबों से ही सीखी जाये……!
कुछ सबक रिश्तें और इंसान भी सिखा जाते है……!!

यूँ तो सिखाने को जिंदगी बहोत कुछ सिखाती है……!
मगर झूठी हसी हसने का हुनर तो मोहब्बत ही सिखाती है……!!

पता होगा तुम्हें पहाड़ो की ऊंचाई के नाप……!
पर कभी उनपर चढ़कर अपने हौंसले भी नाप लो……!!

लाजवाब है वो इंसान जो सदा हंसते है……!
गम छुपाकर अपने, औरों के दिल में बस्ते है……!!

मिली है जिंदगी तो कोई मकसद भी रखिए……!
सिर्फ सांसे लेकर वक़्त गवाना ही जिंदगी नहीं……!!

याद रखना एक माँ सबकी जगह ले सकती हैं……!
लेकिन एक माँ की जगह कोई नहीं ले सकता……!!

नादान इंसान ही जीवन का आनंद ले पाता है……!
ज्यादा होशियार तो हमेशा उलझा हुआ रहता है……!!

मेरे साथ बैठ कर वक़्त भी रोया एक दिन……!
बोला बन्दा तू ठीक है, मै ही ख़राब चल रहा हूँ……!!

हारने से पहले हिम्मत से लड़ना……!
पर लडे बिना हिम्मत न हारना……!!

पात्र और कुपात्र में बहुत अंतर है……!
गाय घास खाकर भी दूध देती है, और सांप दूध पीकर भी जहर ही उगलता है……!!

हौसले जब बुलंद हों……!
तो पहाड़ भी एक मिट्टी का ढेर लगता है……!!

पेट तो माँ के हाथ की रोटियों से भरता था……!
आजकल तो बस भूख मिटती हैं……!!

मेरी दर्द की एक दुकान है……!
जो सिर्फ अपनो की मेहरबानी से चलती है……!!

जलील मत करना किसी गरीब को अपनी चौखट पर……!
वो सिर्फ भीख लेने नहीं दुआ देने भी आता है……!!

मुफ़्त में नहीं सिखा उदासी में मुस्कुराने का हुनर……!

बदले में जिंदगी की हर ख़ुशी तबाह की है हमने……!!

पसीने की स्याही से जो लिखते है अपने इरादों को……!
उनके मुकद्दर में पन्ने कभी कोरे नहीं हुआ करते……!!

कपड़े और चेहरे अक्सर झूठ बोला करते है……!
इंसान की असलियत तो वक़्त बताता है……!!

बहुत कुछ सिखाया जिंदगी के सफ़र ने अनजाने में……!
वो किताबों में दर्ज़ था ही नहीं जो पढ़ाया सबक ज़माने ने……!!

नाराज़गी की जंग में इंसान तो जित जाता है……!
लेकिन रिश्ते हार जाते है……!!

मत करो इतना गुरुर अपने आप पर इंसान……!
न जाने खुदा ने कितने आपके जैसे बना के मिटा दिए है……!!

स्वभाव अच्छा रखो वही साथ जायेगा, पैसे का क्या है……!
सुबह जेब में है, शाम को हो ना हो……!!

अच्छे बनो लेकिन इतने भी नहीं की……!
दुनिया आपकी अच्छाई का गलत फायदा उठा ले……!!

कुछ पन्ने क्या फटे जिंदगी की किताब के……!
ज़माने ने समझा हमारा दौर ही ख़त्म हो गया……!!

इज्ज़त उतारनी सबको आती है……!
पर करनी किसी-किसी को आती है……!!

दूसरों की ख़ुशी में खुश होना सीखो……!
भगवान् आपको भी खुश करने में देर नहीं करेंगे……!!

जिंदगी का उसूल यही है की……!
वो भी रोता है जो दूसरों को रुलाता है……!!

चलने की कोशिश तो करो दिशाएं बहुत हैं……!
रास्ते पर बिखरे कांटो से मत डरो, तुम्हारे साथ दुआएं बहुत हैं……!!

दरवाज़े छोटे ही रहने दो अपने मकान के……!
जो झुक के आ गया समझो वही अपना है……!!

दुनिया का कोई भी लक्ष्य……!
मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं होता……!!

किसी की गलतियों को नहीं उसकी खूबियों को ढूढ़ए……!
जिंदगी अपने आप आसान हो जाऐगी……!!

अकेला रहने का एक फ़ायदा यह भी हैं……!
इंसान को ख़ुद की हैसियत का अहसास हो जाता हैं……!!

मिट जाते है औरों को मिटाने वालें……!
लाश कहाँ रोती है रोते है जलाने वाले……!!

खुश रहने का बस एक ही मंत्र है……!
“उम्मीद बस खुद से रखो” किसी और इंसान से नहीं……!!

बहुत मजबूत हो जाते है वो लोग……!
जिनके पास खोने को कुछ नहीं बचता……!!

कचरे की भी जगह बदलतीं हैं, तुम तो फिर भी इंसान हों……!
तुम्हारे भी दिन आयेंगे, बस मेहनत जारी रखो……!!

दर्द सबके एक है मगर हौंसले सबके अलग अलग है……!
कोई हताश हो के बिखर गया तो कोई संघर्ष करके निखर गया……!!

जिंदगी छोटी नहीं है, बल्कि लगती है……!
क्योंकि यहां समय का सदुपयोग कम और दुरूपयोग ज़्यादा है……!!

धोखे की ख़ासियत यही है जनाब……!
ये विश्वास के साथ मुफ़्त मिलता है……!!

तमाशा देख रहे थे जो डूबने का मेरे……!
अब मेरी तलाश में निकले है कश्तियाँ लेकर……!!

इज्जत भी मिलेंगी दौलत भी मिलेंगी……!
सेवा करो माँ-बाप की जन्नत भी मिलेंगी……!!

अन्य पोस्ट –

Golden Thoughts of Life in Hindi पोस्ट अगर आपको पसंद आयी हो तो Share जरूर करे….!!

Tags:

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *