How to Prepare for IAS

सिबिल सेबा प्रारांभिक परिक्षा की तैयारी कैसे करें ? Hindi Mediem

भारतीय इतिहास न सिर्फ सिविल सेवा पाराम्भिक परिक्षा मे वल्कि मुख्य परिक्षा मे भी बहुत अहम है, इसका पाठ्यक्रम का विस्तार भी काफी बडा है। इस लिए पिछ्ले वर्षो के प्रश्न पत्रो को हल करके इसको आसानीसे समझा जा सकता है। प्राराम्भिक परीक्षा में अगर अभ्यर्थि 55 प्रतिशत अंक प्राप्त कर लेता हैं तो वह उसकी तैयारी सही मानी…

Details
लक्ष्य

3 Habits कठिन हैं लेकिन आपको सफल होने में मदद करती हैं।

हमें महान बनने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। यदि हम आसान काम करते हैं, तो भविष्य में हमारा जीवन कठिन हो जाता है। यदि हम कठिन काम करते हैं तो भविष्य में हमारा जीवन आसान हो जाता है। जीवन में प्रगति के लिए हमें उन चीजों को लगातार करना पड़ता है जिन्हें हम…

Details
सफलता

जीवन में सफल कैसे बनें – सफलता के सात मूल सिद्धांत

हर कोई सफलता प्राप्त करना चाहता है। लेकिन सफलता के उस खुशनुमा स्तर तक पहुँचना इतना आसान नहीं है जितना कि हम में से अधिकांश लोग समझते हैं। सफल होने के लिए, आपको जीवन के अधिकांश सुखों का त्याग करना होगा। नीचे जीवन में सफल होने के सात टिप्स दिए गए है।   How to…

Details
Indian Citizenship

नागरिकता अधिनियम, 1955 । Indian Citizenship Act, 1955

नागरिकता (Citizenship) का शब्द आप अक्सर सुनते रहते हो, अब सवाल यह है कि यह नागरिकता क्या है, नागरिकता अधिनियम (Indian Citizenship Act, 1955) क्या है,  भारत का नागरिक कौन है, भारत में नागरिकता किस आधार पर मिलती है एंव भारतीय नागरिकता (Indian Citizenship) कैसे समाप्त हो सकती है आज हम नागरिकता से जुड़े इन्हीं…

Details
Parliament of India

भारत में संसदीय प्रणाली एंव इसकी विशेषताएं : Parliament of India

भारतीय संसद (Parliament of India) , केंद्र सरकार का एक महत्वपूर्ण अंग है जिसे भारत सरकार का ‘वेस्टमिस्टर मॉडल’ भी कहा जाता है। संविधान में संसद को पॉचवे भाग के अंतर्गत अनुच्छेद 79 से 122 संसद के गठन, अधिकारियों, प्रक्रिया, विशेषाधिकार व शक्ति आदि के बारे में इंगित किया गया है। भारत में संसदीय प्रणाली…

Details
Neolithic Age

नवपाषाण युग (Neolithic Age) : प्राचीन भारत का इतिहास

नवपाषाण युग (Neolithic Age) पाषाण युग का अंतिम एंव तीसरा था, ये मध्य पाषाण युग के बाद शुरु हुआ।  नवपाषाण युग में मनुष्य के जीवन में बहुत से परिवर्तन आए, यही वह युग था जिसमें मनुष्य को भोजन का उत्पादन अर्थात कृषि की समझ हो गई थी। नवपाषाण युग (Neolithic Age) में मनुष्य ने अपने…

Details